Database system vs file system in hindi


File system किया हैं?





File system एक तरीका है जिसके माध्यम से हम किस भी डाटा को एक ऑर्गनाइज तरीके से store और प्राप्त करते है। और बिना File system के हम यह पता नहीं लगा पाएंगे कि कोन सि डाटा कहाँ से शुरु हो रही है। और कहा खत्म हो रही है। File system डाटा को एक विशेष नाम लेकर store करती है जिससे हम डाटा को आसानी प्राप्त कर लेते है। 





Example of file system :- Telephone directory, ledger system etc.





Database system किया है?





एक DBMS प्रोग्रामो का समुह है। जिसके माध्यम से हम डाटा को Insert,modify,delete and fetch आदि कार्य को करने कि अनुमती प्रधान करता है। Database system एक computer software है। जिस से user database के साथ interact होता है।और इस के माध्यम से हम किसी भी रिकॉर्ड को insert,update,modify and delete कर सकते है।





Difference between Database system and file system in hindi





  1. Data Redundancy:- इसका मतलब होता है। कि डाटा का स्थान पर एक से अधिक बार मिलना। और इस data redundancy कहते है। example :- जब एक Customer कि जानकारी जैसे name, account number, address जब bank में एक से अधिक बार save होती है  जैसे ( 1) Saving account register (2) loan register. तो डाटा कि redundancy बडती है। और इस से बहुत जादा memory उपयोग होती है। और इस डाटा को maintain करना बहुत मुस्किल होता है। पर हम DBMS के उपयोग से डाटा redundancy कम कर सकते है।
  2. Data Inconsistency:- जब डाटा redundant होती है। तब इस update करना मुस्किल होता है। example :- अगर हम customer का address को update करना चहाते है। तो हम सभी स्थान से उस customer के address को update करना होगा। लेकिन गलती से भी हम एक स्थान से उस customer के address को update करना भूल गये तो डाटा inconsistency पाई जाएगी। और इसका मतलब है कोनसा address उस customer का सही है। और यह problem dbms में नही पाई जाती है।
  3. Difficult to search/access the data:- पुराने file system में हम अगर किसी एक record को search करना चहाते है। example:- उस customer का record जिसी कि Saving account balance कम से कम 50000 हो। तो इस record को file system देखना मुस्किल होता है। पर dbms search query के माध्यम से इस record को आसानी से देख सकते है। 
  4. Insert and delete records:- file system में हम किसी एक विशेष record को insert और delete नही कर सकते है। पर dbms हम किसी भी record को आसानी से insert और delete कर सकते है।
  5. Security problems :- file system में बहुत कम Security मिलती है। ना के बरा बर Security मिलती हैं। लेकिन dbms में high level Security मिलती हैं। जैसे encryption,passwords, biometric Security आदि। 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *